Alzheimer disease

Did You Know About Alzheimer Disease

Alzheimer disease – यानि लोगो का नाम और पता भूलने और डेलीरूटीन का कम न कर पाना, अल्जाइमर रोग एक अपरिवर्तनीय, प्रगतिशील मस्तिष्क का विकार है जो धीरे-धीरे स्मृति और सोच ने की क्षमता को नष्ट कर देता है, और अंततः सरलतम कार्य करने की क्षमता को नष्ट करता है। अल्जाइमर के अधिकांश लक्षण लोगों में 60 वर्ष के मध्य में दिखाई देते हैं।19BRODY-tmagArticle (1)

बढती उम्र अल्जाइमर dementia का सबसे आम कारण है। dementia संज्ञानात्मक कार्य-सोच, याद, और तर्क और व्यवहार क्षमताओं का नुकसान इतनी हद तक है कि यह किसी व्यक्ति के दैनिक जीवन और गतिविधियों भी खुद से नही कर सकता है।

अल्जाइमर डिमेंशिया का सबसे आम कारण है,  डिमेंशिया  में समान्य कार्य जेसे जी, thinking, remembering, and reasoning का क्षय हो जाता है, जब यह रोग  सबसे गंभीर चरण में होता है, तब व्यक्ति को दैनिक जीवन की सामान्य गतिविधियों के लिए दूसरों पर पूरी तरह से निर्भर होना पड़ता है ।

अल्जाइमर रोग का नाम डॉ. एलोइस अल्जाइमर के नाम पर रखा गया है। 1906  में, डॉ अल्जाइमर ने एक ऐसी महिला के मस्तिष्क के ऊतकों में बदलाव देखा जो असामान्य मानसिक बीमारी से मर गया था।

उसके लक्षणों में स्मृति हानि, भाषा की समस्याएं, और अप्रत्याशित व्यवहार शामिल थे। उसकी मृत्यु के बाद, उसने दिमाग की जांच की और कई असामान्य clumps (जिसे अब amyloid plaques कहा जाता है) और फाइबर के tangled बंडलों (अब न्यूरोफिब्रिलरी, या ताऊ, tangles कहा जाता है) को पाया।

Symptoms of Alzheimer’s disease

अल्जाइमर रोग के लक्षण में समय-समय पर भूलने के एपिसोड आते है। लेकिन अल्जाइमर रोग वाले लोग कुछ चल रहे व्यवहार और लक्षण प्रदर्शित करते हैं जो समय के साथ खराब हो जाते हैं। इनमें शामिल हो सकते हैं: Alzheimer’s disease

  • दैनिक गतिविधियों को प्रभावित करने वाली स्मृति हानि होना
  • परिचित कार्यों को करने में परेशानी जैसे- माइक्रोवेव का उपयोग न कर पाना
  • समस्या सुलझाने में कठिनाइयों
  • भाषण या लेखन में परेशानी होना
  • समय या स्थानों को न याद रख पाना
  • निर्णय लेने में असमर्थ
  • व्यक्तिगत स्वच्छता न रख पाना
  • Mood और personality में परिवर्तन
  • दोस्तों, परिवार और समुदाय से सम्बंधित न रहना

Mild Alzheimer’s Disease

मस्तिष्क में इन plaques और tangles को अभी भी Alzheimer diseaseकी मुख्य विशेषताएं माना जाता है। एक और विशेषता मस्तिष्क में तंत्रिका कोशिकाओं (न्यूरॉन्स) के बीच कनेक्शन का loss होना है। न्यूरॉन्स मस्तिष्क के विभिन्न हिस्सों, और मस्तिष्क से शरीर में मांसपेशियों और अंगों के बीच संदेश प्रसारित करते हैं।

जैसे-जैसे अल्जाइमर रोग बढ़ता है, लोगों को अधिक स्मृति हानि और अन्य संज्ञानात्मक कठिनाइयों का अनुभव होता है।

समस्याओं में

घूमना और खोना,

पैसा संभालने में परेशानी और

बिलों का भुगतान करना, प्रश्न दोहराएं, सामान्य दैनिक कार्यों को पूरा करने में अधिक समय लेना

व्यक्तित्व और व्यवहार में परिवर्तन शामिल हो सकते हैं।

लोगों को अक्सर इस चरण में निदान किया जाता है।

 

Moderate Alzheimer’s disease

इस चरण में, मस्तिष्क के उन क्षेत्रों में क्षति होती है, जो भाषा, तर्क, संवेदी प्रसंस्करण और जागरूक विचार को नियंत्रित करती है। स्मृति हानि और भ्रम हो जाते हैं, और लोगों को परिवार और दोस्तों को पहचान नही पाते है

वे नई चीजें सीखने में असमर्थ हो सकते हैं और कपड़े पहने में,मल्टीस्टेप कार्यों को पूरा कर ने में, या नई परिस्थितियों का सामना कर में, असमर्थ हो जाते है| इसके अलावा, इस चरण के रोगी में भेदभाव, भ्रम और परावर्तक अदि लक्षण देखने को मिल सकते हैं और साथ ही वे आवेगपूर्ण व्यवहार कर सकते हैं।

Severe Alzheimer’s disease

आखिरकार, मस्तिष्क और तंग पूरे मस्तिष्क में फैल गए, और मस्तिष्क ऊतक काफी shrinks हो जाते है । गंभीर अल्जाइमर वाले लोग communicate नहीं कर पाते हैं और देखभाल के लिए दूसरों पर पूरी तरह से निर्भर रहते हैं। अंत में, व्यक्ति सबसे ज्यादा या हर समय बिस्तर में पड़ सकता है जैसे शरीर का काम  करना बंद  हो जाता है।

Alzheimer’s disease causes and risk factors

याददास्त का धीरे धीरे कम होना Alzheimer disease का लक्षण है, कुछ लोगो का मन्ना है की यह उम्र बढ़ने के कारण होने वाली एक समस्या है| लेकिन यह युवाओ में भीं देखा जा रहा है|
इस रोग का सबसे बड़ा कारण तनाव है, आज-कल की life style की वहज से डायबिटीज और blood pressure जेसे खतरनाक बिमारियो का खतरा बड़ता जा रहा है, इसका भी negative प्रभाव हमारे दिमाग पर Alzheimer के रूप में पड़ता है

Age: Alzheimer रोग विकसित करने वाले अधिकांश लोग 65 वर्ष या उससे अधिक आयु के होते हैं।

Alzheimer’s disease

Family history: यदि आपके परिवार में एसा कोई व्यक्ति है जिसे तत्काल में यह रोग हुआ है तो आपको भीयह रोग होने की संभावना अधिक हो जाती है।

Genetics: कुछ जीन अल्जाइमर रोग से जुड़े हुए हैं। जेनेटिक कारणों की वजह से भी अल्जाइमर रोज उत्पन्न हो सकता है

Alzheimer’s disease                                                         

इन risk factors में से एक या अधिक होने का मतलब यह नहीं है कि आप में Alzheimer disease विकसित होगा। यह बस आपके risk factors को बढ़ाता है।

for more health post click here

 

Alzheimer’s stages

अल्जाइमर एक प्रगतिशील बीमारी है, जिसका मतलब है कि समय के साथ लक्षण धीरे-धीरे बढती  जाती है।

Alzheimer  7 अलग-अलग चरणों में बता गया है:

Stage  1: इस चरण में कोई लक्षण नहीं हैं, लेकिन परिवार के इतिहास के आधार पर प्रारंभिक निदान हो सकता है।

Stage  2: शुरुआती लक्षण प्रकट होते हैं, जैसे- भूलना।

Stage  3: हल्की शारीरिक और मानसिक हानि दिखाई देती है, जैसे कम स्मृति और एकाग्रता में कमी । ये केवल व्यक्ति के बहुत करीब किसी के द्वारा ध्यान देने योग्य हो सकता है।

Stage  4: अल्जाइमर अक्सर इस चरण में निदान किया जाता है, लेकिन यह अभी भी हल्का माना जाता है। स्मृति हानि और रोजमर्रा के कार्यों को करने में असमर्थता स्पष्ट होने लगती है।

Stage  5: मध्यम से गंभीर लक्षणों में प्रियजनों या देखभाल करने वालों से मदद की आवश्यकता होती है।

Stage  6: इस चरण में, अल्जाइमर वाले व्यक्ति को बुनियादी कार्यों, जैसे खाने और कपड़े पहनने में मदद की आवश्यकता हो सकती है।

Stage  7: यह अल्जाइमर का सबसे गंभीर और अंतिम चरण है। भाषण और चेहरे की अभिव्यक्तियों का नुकसान हो सकता है

for more click here 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *