अलसी (Flax Seeds)

अलसी (Flax Seeds)  का सेवन स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है इसका प्रयोग किसी एक रोज से न होकर अनेक तरह के रोगों में इसका प्रयोग किया जाता है, अलसी का सही तरीके से प्रयोग करना हमारे तन और मन दोनों के ही लिए काफी फायदेमंद हो सकता है!

आईये जानते है इसे ही कुछ छुपे हुए अलसी के राज को आपके सेहत को सुधार कर आपको स्वस्थ जीवन प्रदान करे:-

गुण एवं उपयोग – अलसी बलकारक ,पित्तनाशक, कुष्ठ को दूर करती  है!

ओर इसका अधिक सेवन करने से नेत्र ज्योति तथा शुक्र मे कमी करती है, व्रण ओर वायु शोथ रोग,का नाश करती है! अलसी के पत्ते कास ओर कफ,श्वास को दूर करने मे उपयोगी होते है,

अलसी (Flax Seeds)

विशेषता – इसके फूल सुगंधित होते है, ओर इसकी मुख्य विशेषता कद की लंबाई बढ़ाने मे इसका पयोग किया जाता  है! छोटे कद के व्यक्ति को दस ग्राम मिश्री के साथ बराबर  कूटकर छानकर फांकी लेकर 1 गिलास दूध पीने से कद बदता है!

इसके बीजो का तेल निकाला जाता है! ओर कही ओषधिओ मे महरम बनाने मे उपयोगी माना जाता है!

                        अलसी (Flax Seeds)  के  फायदे

  1. अलसी के बीज मे पोटेशियम ,आयरन ,जिंक ,फास्फोरस ,केल्सियम ,विटामिन-c विटामिन E,केरोटीन आदि तत्व पाये जाते है!
  2. अलसी के बीज मे ओमेगा 3 को बहुत ही अच्छा स्रोत माना जाता है,ओमेगा 3 fatty acids Capsules  के लिए भी यह एक अच्छा विकल्प है ,
  3. आलसी के आयुर्वेदिक फायदे : आयुर्वेद मे आलसी को मंदगंधयुक्त ,पोष्टिक ,कमोधिप्प्न,मधूर,बलकारक,पित्तनाशक, किंचित कफवात-कारक, स्निग्धपीठ के दर्द ओर सूजन को मिटानेवाली कहा गया है.
  4. अलसी के बीजो को गरम पानी मे उबाल कर ओर 1 तिहाई भाग चूर्ण मिलाकर काढ़ा बनाकर पीने से उलटी, दस्त ,खूनी दस्त, ओर मूत्र संम्बन्धी,रोगो से लाभ होता है!
  5. अलसी के बीज मे ओमेगा-3 फ़ैटी एसिड होता है जो हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करता है! ओमेगा 3 सबसे अधिक मात्रा में समुद्री मछलियों से प्राप्त होता है! लेकिन  पर्याप्त मात्रा में अलसी का सेवन से हमे लाभ होता हैं,ओर अलसी हमारे दिल को स्वस्थ रखती है.

अलसी (Flax Seeds)

  1. अलसी का बीज एवं इसका तेल ( जिसे flaxseed oil या linseed oil भी कहते हैं) अलसी में Alpha-Linolenic Acid (ALA) नामक तत्व होता है, जो एक ओमेगा-3 फ़ैटी एसिड (omega-3 fatty acid) है और इसमें चिकित्सकीय गुण होते हैं.
  2. अलसी के बीज का सेवन त्वचा को स्वस्थ और स्निग्ध बनाता है, नाखून को मजबूत एवं चिकना बनाता है, बालों को टूटने से रोकता है, नेत्र-दृष्टि बरक़रार रखता है, यह त्वचा की बीमारियों (Eczema, Psoriasis) के उपचार में भी कारगर माना गया है. और डैंड्रफ भी दूर करता है!
  3. अलसी के बीज लिग्नांस का बहुत अच्छा स्रोत माना जाता है! जो कि एस्ट्रोजन और (Anti-Oxidantz) गुणों से भरपूर होता है, इसी वजह से यह औरतों के हार्मोनल बैलेंस के लिए बहुत सहायक होता है.
  4. अलसी के बीज को खाली खाएं, हल्का भून कर खाएं अथवा सलाद या दही में मिलाकर खाएं, ओर जूस में मिलाकर पी सकते है, यह जूस के स्वाद को बिना बदले उसकी पोषकता कई गुना बढ़ा देता है!
  5. ‘Blood sugar level को control करने में अत्यंत लाभदायक है! ब्लड प्रेशर नियंत्रित करने मे ओर हाइपरटेंशन के रोगियों के लिए भी अधिक लाभदायक है!
  6. यह अलसी का बीज विटामिन बी, काम्प्लेक्स, मेग्नीज, मैगनिशियम, तत्वों से भरपूर है जो कि कोलेस्ट्रोल को कम करते है,
  7. अलसी विशेष रूप से ब्रेस्ट, प्रोस्टेट और कोलन कैंसर से बचाव करता है.
  8. अलसी मे पाया जाने वाला अल्फा-लिनोलेनिक एसिड जोड़ो की बीमारी आर्थराइटिस के लिए और सभी तरह के जॉइंट पेन में बहुत राहत दिलाता है!
  9. गर्भवती महिला स्तनपान कराने वाली माताओं को अलसी का सेवन करना चाहिए! ‘शहरो और कस्बों के कई परिवारों में ऐसी स्त्रियों को अलसी के बने लड्डू और अन्य भोज्य पदार्थ दिए जाते हैं’! हमारे पूर्वज अलसी का महत्व अच्छी तरह जानते थे,पर हम इन्हें भुलाकर सिर्फ दवाइयां खाने में विश्वास करने लगे!
  10. अलसी के बीज का सेवन खान-पान में मेसोपोटामिया सभ्यता काल से हो रहा है! भारत में भी यह ‘आयुर्वेदिक उपचारों, भोज्य पदार्थ, बनाने में हो रहा है, अलसी कई प्रकार के रोगों और सामान्य स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी है! दुनिया के अनेक देशों में अलसी या ‘Flaxseed’ लोकप्रिय और स्वास्थ्यप्रद आहार माना जाता है.
  11. अलसी का बीज फाइबर से भरपूर होते हैं अतः यह वजन कम करने  में भी बहुत अच्छा माना जाता  है!
  12. महिलाओं में रजोनिवृत्ति के दौरान होने वाली समस्याओं में भीअलसी के उपयोग  से राहत मिलती है, ओर ‘माइल्ड मेनोपॉज़’ की समस्या में रोजाना लगभग 40 ग्राम पिसी हुई अलसी खाने से वही लाभ प्राप्त होते हैं जो हार्मोन थैरेपी से मिलते हैं.
  13. अलसी का तेल किडनी संबंधित समस्याओं में भी लाभकारी है ओर डायबिटीज़, कैंसर, ल्यूपस, और आर्थ्राइटिस आदि रोगों में भी इसके प्रभावों पर रिसर्च की जा रही है!
  14. अलसी के एंटी फंगल और बीज एंटी बैकटिरियल, एंटी वायरल होते है. इनका उपयोग शरीर की रोगप्रतिरोधक-क्षमता बढाता है.
  15. अलसी के बीज का सेवन खान-पान में मेसोपोटामिया सभ्यता काल से हो रहा है! भारत में भी यह ‘आयुर्वेदिक उपचारों, भोज्य पदार्थ, बनाने में हो रहा है, अलसी कई प्रकार के रोगों और सामान्य स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी है! दुनिया के अनेक देशों में अलसी या ‘Flaxseed’ लोकप्रिय और स्वास्थ्यप्रद आहार माना जाता है.
  16. अलसी का बीज फाइबर से भरपूर होते हैं अतः यह वजन कम करने  में भी बहुत अच्छा माना जाता  है!
  17. महिलाओं में रजोनिवृत्ति के दौरान होने वाली समस्याओं में भीअलसी के उपयोग  से राहत मिलती है, ओर ‘माइल्ड मेनोपॉज़’ की समस्या में रोजाना लगभग 40 ग्राम पिसी हुई अलसी खाने से वही लाभ प्राप्त होते हैं जो हार्मोन थैरेपी से मिलते हैं.
  18. अलसी का तेल किडनी संबंधित समस्याओं में भी लाभकारी है ओर डायबिटीज़, कैंसर, ल्यूपस, और आर्थ्राइटिस आदि रोगों में भी इसके प्रभावों पर रिसर्च की जा रही है!
  19. अलसी के एंटी फंगल और बीज एंटी बैकटिरियल, एंटी वायरल होते है. इनका उपयोग शरीर की रोगप्रतिरोधक-क्षमता बढाता है!

 

 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *