टीबी (TB)

टीबी (TB)  MDR के रोगियों के लिए अमेरिका से आई संजीवनी

टीबी के मरीजो के लिए सरकार एक रामबाण लेकर आई है, टीबी के वह रोगी जो एमडीआर श्रेणी में आते है उनके उपचार के लिए एक संजीवनी बूटी बेडाक्युलिन का प्रयोग किया जायेगा! जो की 7 समन्दर पार अमेरिका से भारत में लाया जा रहा है! इसका उपयोग tb के इलाज के लिए किया जायेगा, देस भर में अनेक टीबी के मरीज लगातार बढ़ते जा रहे है सही से इलाज न मिलने के कारण यह अपनी जान से हात धो बैठते है,

सरकार ने इस सब बातो को ध्यान में रख कर, टीबी के मरीजो के इलाज के लिए अमेरिका से बेडाक्युलिन दवाई को भारत में लाने का एक बेहतरीन काम किया है, इस दवाई की कीमत बहुत ही ज्यादा है लेकिन यह रोगियों को बिलकुल नि:शुल्क दी जाएगी!

इसकी एक बोतल की कीमत लगभग 19 लाख 28 हजार रूपये है, इस एक बोलत में 188 गोलिया है, मतलब यह है की प्रत्येक गोली की कीमत 10 हजार 372 रूपये होगी| यह दवाई उन मरीजो के लिए मंगवाई गयी है जिन पर टीबी की दूसरी दवाइयों का असर नहीं होता है|

 टीबी क्या है

टीबी (TB)

टीबी को संक्रामक रोगों के अंतर्गत रखा जाता है, टीबी ट्यूबरक्लोसिस नमक जीवाणु से फेलता है, टीबी रोग के अंतर्गत फेफड़े सर्वाधिक प्रभावित होते है, इसके अलावा शरीर के अन्य हिस्से जैसे दिमाग, रीढ़  की हड्डी को भी नुकसान पहुचती है|

 

इस तरह रखे अपने BP को control में 

इस तरह से करे अपने होर्मोन को बैलेंस

रोजाना एक ग्लास गर्म पानी से रखे अपने स्वास्थ्य को कायम 

 

वर्तमान में कुछ रोगियों पर इसका उपयोग किया जा रहा है, यह दवाई मरीजो को फ्री में दी जा रही है, प्रदेश में 5000 एमडीआर के रोगी है !

टीबी की दवाईया बेक्टेरिया के एंजाइम को ख़तम करती है, लगातार दवाई लेने के कारण मरीजो में प्रतिरोधक क्षमता उत्पन्न हो जाती है, जिसके कारण दवाई का असर रोगी पर नही हो पता है, इस लिए टीबी इंडिया ने एक नयी शरुआत की है  और जिसने प्रदेश में लागु किया! इस दवाई का पहले ही कई देसों में ट्रायल हो चूका है जिसके परिणाम बहुत ही अच्छे पाए गये है!

पहले होगी 4 मरीजो पर जॉच

प्री ट्रीटमेंट इवेल्युसन के अंतर्गत जिले में 4 मरीजो पर इस दवाई का इस्तमाल किया जायेगा, और इसकी जॉच की जाएगी की इसका क्या असर है और कितने हद तक यह कारगर साबित होती है! इस दवाई का कितना प्रभाव हे और क्या इसकी साइड इफ्फेक्ट्स है !

इसकी डोस 100 मिलीग्राम है जो शुरआती 2 सप्ताह तक 4 गोली, 7 दिन तक दी जाएगी, इसके बाद सप्ताह में 3 दिन 2-2 गोली 6 माह तक दी जाएगी!

इन मरीजो का अच्छे से अध्यन पूरा होने के बाद ही अन्य पर इन दवाइयों का प्रयोग अन्य पर किया जायेगा!

राज्य में है 5000 से भी अधिक रोगी

राजस्थान में वर्तमान में करीबन 5000 से भी अधिक मरीज एमडीआर के है, जबकि जिले में लगभग 300 रोगी एमडीआर के पाए गये है ! जिनका इलाज करना बहुत ही आवश्यक है!

 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *